दुनियानई दिल्ली

अपने ब्रांड की डिजिटल मौजूदगी बढ़ाने के 05 कदम या अपने ब्रांड का डिजिटल दायरा बढ़ाना है तो अपनायें ये 05 स्‍टेप्‍स

अपने ब्रांड की डिजिटल मौजूदगी बढ़ाने के 05 कदम या अपने ब्रांड का डिजिटल दायरा बढ़ाना है तो अपनायें ये 05 स्‍टेप्‍स

अपने ब्रांड की डिजिटल मौजूदगी बढ़ाने के 05 कदम या अपने ब्रांड का डिजिटल दायरा बढ़ाना है तो अपनायें ये 05 स्‍टेप्‍स

गोविंद कुमार नई दिल्ली

दुनिया तेजी से डिजिटल हो रही है। भारत में, वर्ष 2020 में 700 मिलियन सक्रिय इंटरनेट यूजर्स थे और इस संख्या में समय के साथ बढ़ोतरी ही हुई है। जनवरी 2021 तक, भारत में 448 मिलियन सोशल मीडिया यूजर्स थे। ग्लोबल स्टैटिस्टिक्स के अनुसार, भारतीय प्रतिदिन औसतन 2.25 घंटे सोशल मीडिया पर बिताते हैं। एक ऐसे देश में जहां अगले चार वर्षों में सक्रिय इंटरनेट यूजर्स के 900 मिलियन होने का अनुमान है, वहां व्यवसायों को अपने ब्रांड के लिए अपने दर्शकों तक पहुंचने के लिए एक डिजिटल रणनीति की आवश्यकता है। किसी उत्पाद की प्रामाणिकता की पुष्टि करने के लिए कोई व्यक्ति क्या करता है? किसी भी व्यक्ति के लिए इस दिशा में उठाया गया सबसे पहला कदम उस उत्पाद के बारे में इंटरनेट सर्च होता है। यही से आपको संकेत मिलता है कि आपको अपने ब्रांड के लिए डिजिटल मौजूदगी की आवश्यकता क्यों है। एंजेल वन

एक कंपनी अपने उत्पादों में सभी तकनीकी तरक्की को शामिल कर सकती है, लेकिन अगर ब्रांड की डिजिटल उपस्थिति नहीं है तो यह बेकार हो जाएगा। लोग उत्पादों का उपयोग तभी करेंगे जब वे उनके बारे में जानेंगे, इसलिए अपने समाधानों के बारे में प्रचार करने के लिए विभिन्न डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग करें। डिजिटल माध्यमों पर ब्रांड की उपस्थिति बढ़ाने के लिए यहां पांच तात्कालिक चरणों के बारे में जानकारी दी गई है:

● अपने दर्शकों को पहचानें

डिजिटल मार्केटिंग या विज्ञापन रणनीति बनाने से पहले, अपने लक्षित दर्शकों की पहचान करें। इससे आपको यह निर्धारित करने में मदद मिलेगी कि आपको प्लेटफॉर्म पर कितने संसाधनों को खर्च करने की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए, यदि आप अपने उत्पादों के लिए जेनरेशन जेड और मिलेनियल्स को लक्षित करते हैं, तो डिजिटल खर्च को आपकी ब्रांडिंग के लिए सबसे अधिक हिस्सा बनाना होगा। तकनीक की समझ रखने वाली पीढ़ियां अपना ज्यादातर समय फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे डिजिटल प्लेटफॉर्म पर बिताती हैं। वे समाचार और शोध के लिए डिजिटल मीडिया पर भरोसा करते हैं। इसलिए, आपको पूरी तरह से शोध करना होगा कि आपके लक्षित दर्शक अपना अधिकांश समय कहां व्यतीत कर रहे हैं। प्रत्येक प्लेटफॉर्म के उपयोग के विवरण के अनुसार एक योजना बनाएं।

● ब्रांडिंग वेबसाइट

जेनरेशन जेड और मिलेनियल्स के लिए मार्केटिंग की बात करें, तो हर पल मायने रखता है। 2000 के दशक की शुरुआत में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, मनुष्यों का औसत ध्यान 12 सेकंड से घटकर 8 सेकंड हो गया और यह ब्रांडों के लिए डिजिटल यूजर्स का ध्यान आकर्षित करना एक चुनौती है। आंकड़ों को ध्यान में रखते हुए, कंपनियों को अपनी वेबसाइटें बनानी होंगी ताकि लोग उन पर अधिक समय तक टिके रहें और दिए गए सभी विकल्पों का पता लगाएं। ऐसा होने के लिए, आपको अपनी वेबसाइट को सरल और आकर्षक बनाना होगा। यूजर्स को उस उत्पाद की खोज करने में सक्षम होना चाहिए जिसकी वे तलाश कर रहे हैं। यह बहुत जटिल नहीं होना चाहिए; नहीं तो, वे वेबसाइट छोड़ देंगे। आपकी वेबसाइट को यह बताना चाहिए कि आपका ब्रांड क्या है। यदि आपकी कंपनी किसी विशेष दर्शक वर्ग को पूरा करती है, तो वेबसाइट को यह बताना चाहिए कि ब्रांड यंग और इनोवेटिव है। यूजर्स की बेहतर ढंग से मदद करने के लिए विभिन्न मीडिया का उपयोग करें।

● सोशल मीडिया रणनीति

अपने दर्शकों से जुड़ने का सबसे आसान तरीका सोशल मीडिया है। किसी उत्पाद में निवेश करने से पहले, लोग अपने उत्पादों और ग्राहकों की प्रतिक्रिया देखने के लिए ब्रांड के सोशल मीडिया पेज पर जाते हैं क्योंकि वे ब्रांड के बारे में अधिक जानने के लिए उन पर भरोसा करते हैं। इसलिए, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उपस्थिति बनाए रखने के साथ, आपको लोगों के सवालों का समाधान करना होगा और उनकी शिकायतों का तुरंत जवाब देना होगा। इसके अलावा, आप अपने उत्पादों के बारे में अधिक जागरूकता पैदा करने के लिए सोशल मीडिया इंफ्लूएंसर्स को भी शामिल कर सकते हैं। लेकिन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी आपको सावधान रहना होगा। आप हर प्लेटफॉर्म पर एक ही तरह से कम्युनिकेट नहीं कर सकते। कुछ वीडियो के लिए अच्छे हैं, तो कुछ तस्‍वीरों के लिए, और अन्य के लिए विस्तृत जानकारी की आवश्यकता है।

● कंटेंट स्‍ट्रैटेजी

जब ब्रांड पोजिशनिंग की बात आती है, तो आप केवल वेबसाइटों और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भरोसा नहीं कर सकते। आपको सभी माध्यमों के लिए अपनी कंटेंट स्‍ट्रैटेजी को सावधानीपूर्वक तैयार करना होगा। आप अपने ब्रांड की कहानी के लेखक हैं, और आपको इसे हर मंच पर सबसे सम्मोहक तरीके से बताना होगा। इसमें शीर्ष प्रबंधन से विचार नेतृत्व लेख, पॉडकास्ट, वेबिनार आदि में ऑनलाइन उपस्थिति शामिल है। इन प्रयासों से, लोगों को आपके ब्रांड और उसके उत्पादों और उद्योग के बारे में भी पता चलता है। कंटेट ही किंग है, इसलिए अपने दर्शकों तक पहुंचने के लिए आपको इसके साथ अत्यधिक रचनात्मक होना होगा।

● रिस्‍पॉन्सिव बनें

डिजिटल उपस्थिति का एक अनिवार्य हिस्सा पहुंच है। आपके ग्राहकों को आप तक आसानी से पहुंचना चाहिए। आपको जवाब देना होगा कि क्या वे मेल, आपकी वेबसाइट पर संदेश, या सोशल मीडिया टिप्पणी या पोस्ट के माध्यम से आप तक पहुंचते हैं। यह एक डिजिटल-सेवी ब्रांड होने का एक अनिवार्य हिस्सा है। यह आपके ग्राहकों को सुनिश्चित करता है कि आप वहां हैं और आप उनकी परवाह करते हैं। एक ऐसा नेटवर्क बनाएं जो ऑनलाइन संचार के माध्यम से क्लाइंट के मुद्दों को तुरंत हल करे। सक्रिय ग्राहक सेवा से अधिक ग्राहकों को बनाए रखने में कुछ भी मदद नहीं करता है। एंजेल वन

आज के समय में डिजिटल उपस्थिति बनाना मुश्किल नहीं है। एक तरह से यह साफ है कि दर्शक क्या चाहते हैं। अपने ब्रांड के लिए एक मजबूत डिजिटल उपस्थिति बनाने के लिए आपको बस सही टूल्‍स और रणनीतियों की आवश्यकता है। डिजिटल युग में, एक कंपनी सॉलिड डिजिटल मार्केटिंग रणनीति के माध्यम से एक मजबूत ब्रांड का निर्माण कर सकती है।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close