उत्तरप्रदेशमुरादाबाद

मुरादाबाद प्रकृति सेवा समिति

मुरादाबाद प्रकृति सेवा समिति

मुरादाबाद प्रकृति सेवा समिति

जग्गु बोहरा उत्तप्रदेश उत्तराखण्ड

मुरादाबाद में आज प्रकृति का हरित कवच बढ़ाओ अभियान के अंतर्गत ग्राम झनकपुरी में रुद्राक्ष के पौधे के साथ-साथ सेब के दो पौधों का पौधरक्षण की भावना से रोपण किया गया बताते चलें कि पर्यावरण सचेतक नैपालसिंह पाल रामगंगा मित्र को नेपाल के लुंबिनी में अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण योद्धा सम्मान 2021से सम्मानित किया गया था जिसके साथ उन्हें पीपल नीम तुलसी अभियान के संस्थापक डॉ धर्मेंद्र कुमार ने एक रुद्राक्ष का पौधा भी भेंट किया गया था। इसी अवसर पर पर्यावरण प्रेमी राज किशोर कुशवाहा ने पर्यावरण सचेतक नैपालसिंह पाल रामगंगा मित्र को दो सेब के पौधे भी भेंट किए उन्हीं पौधों को आज ग्राम झनकपुरी में प्रकृति का हरित कवच बढ़ाओ अभियान के अंतर्गत पौधरक्षण की भावना से रोपित किया गया ।इस अवसर पर तोताराम , कृपो देवी , राजेश सिंह , सोमपाल सिंह , दौलत सिंह , प्रकृति सेवा समिति के उपाध्यक्ष यशपाल सिंह , संस्थापक महासचिव नैपाल सिंह पाल , पुष्पेंद्र सिंह , हरविंदर सिंह , लोकेंद्र सिंह , बाल प्रकृति प्रेमी यवनपाल और बाल प्रकृति प्रेमी गुंजिता पाल , विमला देवी रामवती देवी आदि मौजूद रहे। पर्यावरण सचेतक नैपालसिंह पाल ने कहा कि रुद्राक्ष एक फल की गुठली है रुद्राक्ष को आध्यात्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण माना गया है रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर की आंखों के जल बिंदु से मानी गई है यह भगवान शिव का वरदान है इसको धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है। प्रकृति में हरे पेड़ पौधे ऑक्सीजन की प्राकृतिक फैक्ट्री है अतः इनके संरक्षण और संवर्धन की जिम्मेदारी हम सभी की है।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close